Ranbaxy के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह को दिल्ली पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में किया गिरफ्तार

खास बातें

  1. शिविंदर सिंह पर धोखाधड़ी, ठगी का आरोप
  2. रेलीगेयर फिनवेस्ट की शिकायत पर कार्रवाई
  3. दिल्ली पुलिस ने शिविंदर को गिरफ़्तार किया

नई दिल्ली: 

फार्मा कंपनी रैनबैक्सी (Ranbaxy) के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह (Shivinder Singh) को दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (Economic Offences Wing) ने गिरफ्तार किया है. शिविंदर सिंह पर धोखाधड़ी (Fraud) और ठगी का आरोप है. शिविंदर के अलावा तीन और लोगों की गिरफ्तारी हुई है. इन चारों की गिरफ्तारी तब हुई जब इन सभी को मंदिर मार्ग में ईओडब्ल्यू कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया था. आर्थिक अपराध शाखा (EOW) की डीसीपी वर्षा शर्मा ने बताया कि पुलिस ने शिविंदर सिंह, सुनील गोडवानी, कवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना को गिरफ्तार किया है. आरोपियों को आईपीसी की धारा 409 और 420 के तहत गिरफ्तार किया गया है. रेलीगेयर फिनवेस्ट की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है.

ANI

@ANI

Economic Offences Wing of the Delhi Police has arrested Ranbaxy’s former promoter Shivinder Singh and three others arrested on a complaint given by Religare Enterprises Limited. Religare has accused them of diverting funds and misappropriation.

View image on Twitter
42 people are talking about this

शिविंदर सिंह पर 740 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी का आरोप है. बता दें कि पुलिस कथित तौर पर शिविंदर सिंह के बड़े भाई मालविंदर सिंह (Malvinder Singh) की भी तलाश कर रही है, जिनका नाम भी इस मामले में है.

टिप्पणियां

फार्मा कंपनी रैनबैक्सी के प्रमोटरों से नाराज सुप्रीम कोर्ट ने कहा- जेल भेज दिया जाएगा

बता दें कि बीते अगस्त में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने धनशोधन रोधी कानून से जुड़े एक मामले में रैनबैक्सी समूह के पूर्व प्रवर्तकों मालविंदर मोहन सिंह और शिविंदर मोहन सिंह के परिसरों पर छापेमारी की थी. अधिकारियों ने कहा कि धनशोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत मामला दर्ज होने के बाद यह छापे मारे गए थे. एजेंसी की इस कार्रवाई को सिंह बंधुओं के खिलाफ वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों और उसके बाद उनके कारोबार के पतन से जोड़कर देखा जा रहा है.

 

Source:-https://khabar.ndtv.com/news/india/ranbaxy-ex-promoter-shivinder-singh-arrested-by-delhi-police-in-fraud-case-2114797?pfrom=home-khabar_featured

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *